कहाँ से लायें हुनर उन्हें मनाने का

कहाँ से लायें हुनर उन्हें मनाने का, कोई जवाब नहीं था उनके रूठ के चले जाने का, मिलनी थी हमे ही सज़ा इस मोहब्बत में, क्यों की जुर्म हमे ही किया था उनसे दिल लगाने का!!

Read More

ज़रूरी तो नही जीने के लिए सहारा हो

ज़रूरी तो नही जीने के लिए सहारा हो, ज़रूरी तो नही हम जिनके है वो भी हमारा हो, कुछ कश्तियाँ डूब भी जाय करती है, ज़रूरी तो नही हर कश्ती का किनारा हो!!

Read More

अभी भी ताज़ा हैं ज़ख़्म सीने में

अभी भी ताज़ा हैं ज़ख़्म सीने में, बिना तुम्हारे क्या मज़ा हैं जीने में, हम तो ज़िंदा हैं तुम्हारा साथ पाने को, वरना देर कितनी लगती है ज़हर पीने में!!

Read More

दर्द से हाथ न मिलाते तो और क्या करते

दर्द से हाथ न मिलाते तो और क्या करते, गम के आंसू न बहाते तो और क्या करते, उसने मांगी थी हमसे रौशनी की दुआ, हम खुद को न जलाते तो और क्या करते!!

Read More

कभी रोकर मुस्कुराये कभी मुस्कुरा कर रोए

कभी रोकर मुस्कुराये कभी मुस्कुरा कर रोए, तुम्हारी याद जब भी आयी तुम्हे भुला कर रोए, एक तुम्हारा ही नाम था जिसे हज़ार बार था लिखा, जिसे खुश हुए थे लिख कर उसे मिटा कर रोए!!

Read More

मुहब्बत उनको मिलती है जिनका नसीब होता है

मुहब्बत उनको मिलती है जिनका नसीब होता है, बहोत कम हाथों मे ये मुहब्बत की लकीर होती है, कभी कोई अपनी मुहब्बत से ना बिछड़े, कसम से ऐसे हालत मे बहुत तक़लीफ़ होती है!!

Read More

मेरे दिल का दर्द अभी ताज़ा है

लिखूं कुछ आज ये इस वक़्त का तक़ाज़ा है, मेरे दिल का दर्द अभी ताज़ा ताज़ा है, गिर पड़ते हैं मेरे आँसू मेरे ही काग़ज़ पर, लगता है कलम में स्याही का दर्द थोड़ा ज़्यादा है!!

Read More

एक सिलसिले की उम्मीद थी उनसे

एक सिलसिले की उम्मीद थी उनसे, वो बस यूँ ही फ़ासले बढ़ाते चले गये, हम तो पास आने की कोशिश में थे, ना जाने क्यों वो हमसे दूरियाँ बढ़ाते चले गये!!

Read More