आ जाओ किसी रोज

आ जाओ किसी रोज तुम्हारी रूह मे उतर जाऊँ, साथ रहूँ मैं तुम्हारे ना किसी और को नज़र आऊँ, चाहकर भी मुझे छू ना सके कोई इस तरह, तुम कहो तो यूँ तुम्हारी बाहों में बिखर जाऊँ!!

Read More

मुझको फिर वही सुहाना नजारा मिल गया

मुझको फिर वही सुहाना नजारा मिल गया, इन आँखों को दीदार तुम्हारा मिल गया, अब किसी और की तमन्ना क्यूँ मैं करूँ, जब मुझे तुम्हारी बाहों का सहारा मिल गया!!

Read More

धोखा ना देना कि तुझ पर

धोखा ना देना कि तुझ पर ऐतबार बहोत है, ये दिल तेरी चाहत का तलबगार बहोत है, तेरी सूरत ना दिखे तो दिखाई कुछ नहीं देता, हम क्या करें कि तुझसे हमें प्यार बहुत है!!

Read More

इश्क़ में तेरे हम इस कदर खो गये हैं

इश्क़ में तेरे हम इस कदर खो गये हैं, ज़माने से बेख़बर हम तेरे दिल में सो गये हैं, मत उठाना अब हमें अपने दिल की गोद से, हम सदा के लिए अब तुम्हारे हो गये हैं!!

Read More

अब इन आँखों में और कोई बसता नहीं है

अब इन आँखों में और कोई बसता नहीं है, एक तुमको इन आँखों में बसाने के बाद, ये दिल मेरा अब कहीं और लगता नहीं है, एक तुमसे इस दिल को लगाने के बाद!!

Read More

दूरियों से रिश्तों में फ़र्क नहीं पड़ता

दूरियों से रिश्तों में फ़र्क नहीं पड़ता, बात तो दिलों की नज़दीकियों की होती है, पास रहने से भी रिश्ते नहीं बन पाते, वरना मुलाक़ातें तो रोज़ कितनों से होती हैं!!

Read More

जब मुझे तुम्हारी बाहों मे सहारा मिल गया

मुझको फिर वही सुहाना नज़ारा मिल गया, नज़रों को जो दीदार तुम्हारा मिल गया, और किसी चीज़ की तम्मना क्यों करूँ, जब मुझे तुम्हारी बाहों मे सहारा मिल गया!!

Read More

ज़िंदगी तुम्हारे बिना अब कटती नहीं है

ज़िंदगी तुम्हारे बिना अब कटती नहीं है, तुम्हारी याद मेरे दिल से मिटती नहीं, तुम बसे हो मेरी निगाहो में, आँखो से तुम्हारी सूरत हटती नही!!

Read More