हर एक हसीन चेहरे में गुमान उसका था

हर एक हसीन चेहरे में गुमान उसका था,
बसा न कोई दिल में ये मकान उसका था,
तमाम दर्द मिट गए मेरे दिल से लेकिन,
जो न मिट सका वो एक नाम उसका था!!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *