अब उन गलियों से गुज़रने में वो बात नहीं

अब उन गलियों से गुज़रने में वो बात नहीं, बीते हुए वक़्त का अब वो एहसास नहीं, नहीं है इंतज़ार अब उसका इन खिड़कियों पे आने का, और न है उम्मीद उसे देख अब मुस्कुराने का, कहती थी जो हमेशा साथ चलेगी, वो पहले कदम पर ही राह बदल पड़ी, अकेले इस राह पर चलते हुए अब हो गया मुझे एक अरसा, पता नहीं फिर भी मिलने को क्यों आज भी हूँ इतना तरसा!!

Read More

आप क्यों हमसे ‘खफा’ रहते हैं

आप क्यों हमसे ‘खफा’ रहते हैं, रिश्ते पहले से कहं रहते हैं। ज़िस्म है एक दिन तो ढलना था दिल के जज़्बात जवां रहते हैं। एे ज़िन्दगी कभी ले चल, तू एक पल तो वहां, मेरे सपने जहां पे रहते है। हमने हर हसरतों को मारा है, लोग फिर भी खफा से रहते हैं। वो मेरे साथ मेरे पास तो है, फिर भी क्यूं हम जुदा से रहते है।

Read More

इश्क़ के शोले को भड़काओ

इश्क़ के शोले को भड़काओ कि कुछ रात कटे, दिल के अँगारे को दहकाओ कि कुछ रात कटे, हिज्र में मिलने शब-ए-माह के ग़म आए हैं, चारासाज़ों को भी बुलाओ कि कुछ रात कटे, कोई जलता ही नहीं कोई पिघलता ही नहीं, मोम बन जाओ पिघल जाओ कि कुछ रात कटे, चश्म ओ रुख़्सार के अज़़कार को जारी रखो, प्यार के नामे को दोहराओ कि कुछ रात कटे, आज हो जाने दो हर एक को बद-मस्त-ओ-ख़राब, आज एक एक को पिलवाओ कि कुछ रात कटे, कोह-ए-ग़म और गिरा और गिरा और गिरा, ग़म-ज़दो तेशे को चमकाओ कि कुछ रात कटे!!

Read More

हुस्न को शक्लें दिखानी आ गयी – नूह नारवी

हुस्न को शक्लें दिखानी आ गयी, शोख़ियाँ ले कर जवानी आ गयी, सर में सौदा दिल में दर्द आँखों में अश्क, बस्तियाँ हम को बसानी आ गयी, जो बिगड़ जाता था बातों पर कभी, अब उसे बातें बनानी आ गयी, दिल में लाखों दाग़ रौशन हो गए, इश्क़ को शमाएं जलानी आ गयी, बर्क़-ओ-बाराँ के जिलौ में बदलियाँ, साथ ले कर आग पानी आ गयी, ऐ दिल-ए-राहत-तलब हुश्यार-बाश, साअतें अब इमतिहानी आ गयी, दिल लगा कर फँस गए ज़हमत में हम, थीं बलाएँ जितनी आनी आ गयी, मुस्कुरा देना क़यामत हो गया, बिजलियाँ तुम को गिरानी आ गयी, डर रहे थे जिन से अर्बाब-ए-जहाँ, वो बलाएँ आसमानी आ गयी, ‘नूह’ वो कहते हैं फिर तूफ़ान उठे, क़ुव्वतें अब आज़मानी आ गयी!!

Read More

तेरे साथ रंगों से भरा है

तेरे साथ रंगों से भरा है मेरा ये संसार, तेरे बिना दिल हमेशा रहता है बेकरार, तू ही मेरे दिल के हर कोने में बसता है, क्योंकि दिल तेरा ही करता है हमेशा इंतज़ार!!

Read More

मेरी इन सासों को तेरी

मेरी इन सासों को तेरी ज़रूरत का एहसास है, इन लबो को अब सिर्फ तेरी ही प्यास है, तू मिले या न मिले इस जिन्दगी में मुझे, मेरे दिल को तो सिर्फ और सिर्फ तेरी ही आस है!!

Read More

मैं आदत हूँ उसकी

मैं आदत हूँ उसकी, वो ज़रूरत हैं मेरी, मैं फरमाइश हूँ उसकी, वो इबादत है मेरी, इतनी आसानी से कैसे निकाल दूँ उसे अपने दिल से, मैं ख्वाब हूँ उसका वो हक़ीकत हैं मेरी!!

Read More

उसकी यादें तो

उसकी यादें तो हमारी हर बात में हैं, वो तो हमारे हर एक ज़ज्बात में हैं, वैसे तो यूँ ही किसी को दिल दिया नहीं करते हम, लेकिन फिर भी वो ही बसती है मेरे ख्यालात में हैं!!

Read More

ना जाने मोहब्बत में

ना जाने मोहब्बत में कितने अफसाने बन जाते है, शमा जिसको भी जलाती है, वो परवाने बन जाते है, कुछ हासिल करना ही इश्क कि मंजिल नहीं होती, किसी को खोकर भी, कुछ लोग दिवाने बन जाते है!!

Read More

ये ज़िन्दगी न जाने

ये ज़िन्दगी न जाने कैसे तेरी ज़रूरत बन गयी, न जाने ये मुहब्बत क्यों तुमसे जुड़ गयी, अब तो मेरा ही मुझ पर कोई ज़ोर न रहा, न जाने कैसे तेरी हुकूमत मेरे दिल पर हो गयी!!

Read More